Lakshmi Puja Vidhi Diwali Puja Vidhi in Hindi Lakshmi Puja Timing Shubh Muhurt

Happy Diwali Lakshmi Puja Muhurat

Lakshmi Puja Vidhi Diwali Puja Vidhi in Hindi Lakshmi Puja Timing 2018 Lakshmi Puja Shubh Muhurt 2018 Deepawali 2018 Lakshmi Puja Shubh Muhurt Lakshmi Puja Timing 2018 Deepawali Puja Vidhi in English Lakshmi Puja Vidhi in Hindi Diwali 2018 Lakshmi Puja Shubh Muhurt

Happy Diwali Lakshmi Puja Vidhi

Happy Deepawali Lakshmi Pooja Shubh Mururat : On Diwali, people worship Goddess Lakshmi of wealth for wealth and achievement. Lakshmi, who is the wife of Lord Vishnu. It is believed that there is poverty in the house where the mother Lakshmi does not reside; poverty prevails. For this reason it is very important to be happy with Mother Lakshmi. Let us tell you about Lakshmi worship method and essential material for Lakshmi Puja Vidhi Diwali Puja.

लक्ष्मी पूजन के लिए आवश्यक सामग्री important things for Lakshmi puja

लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियाँ, लक्ष्मी सूचक सोने अथवा चाँदी का सिक्का, दो मीटर सफेद वस्त्र, दो मीटर लाल वस्त्र, हाथ पोंछने के लिए कपड़ा, बहीखाते, सिक्कों की थैली, लेखनी, काली स्याही से भरी दवात, तीन थालियाँ, एक साफ कपड़ा, धूप, अगरबत्ती, मिट्टी के बड़े व छोटे दीपक, रुई, माचिस, सरसों का तेल, पंचामृत (दूध, दही, शहद, घी व शुद्ध जल का मिश्रण), मधुपर्क (दूध, दही, शहद व शुद्ध जल का मिश्रण), हल्दी व चूने का पावडर, रोली, चन्दन का चूरा, कलावा, आधा किलो साबुत चावल, दुर्वा, पान के पत्ते, सुपारी, बताशे, खांड के खिलौने, मिठाई, फल, वस्त्र, साड़ी आदि, सूखा मेवा, खील, लौंग, छोटी इलायची, केसर, सिन्दूर, कुंकुम, गिलास, कलश, कपूर, नारियल, गोला, मेवा, फूल, गुलाब अथवा गेंदे की माला, चम्मच, प्लेट, कड़छुल, कटोरी, तीन गोल प्लेट, द्वार पर टाँगने के लिए वन्दनवार। also read: Happy Diwali Messages 2018

Lakshmi Puja Shubh Muhurat Best Time for Pooja

दिन में : 01:06 से 02:34 बजे तक

शाम को :  05:42 बजे से लेकर 07:38 बजे तक

Happy Deepawali Lakshmi pooja Vidhi
Happy Deepawali Lakshmi pooja Vidhi

Lakshmi Puja/Diwali Puja Vidhi in Hindi (लक्ष्मी पूजा विधि)

भगवती लक्ष्मी का ध्यान पहले से अपने सम्मुख प्रतिष्ठित श्रीलक्ष्मी की नवीन प्रतिमा में करें। मूर्तियों का पवित्रकरण के लिए सबसे पहले पूजा के जलपात्र से थोड़ा जल लेकर भगवान गणेश और लक्ष्मी जी की मूर्तियों के ऊपर छिड़कें। इसके पश्चात स्वयं को, पूजा सामग्री एवं अपने आसन को भी पवित्र करें। पवित्रीकरण के दौराण निम्न मंत्र का जाप करें-

ॐ अपवित्र: पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोपि वा।

य: स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं स: वाह्याभंतर: शुचि:।।

Happy Diwali Lakshmi Puja Muhurat
Happy Diwali Lakshmi Puja Muhurat

इसके बाद जिस जगह पर आसन बिछा है उस जगह को भी पवित्र करें और मां पृथ्वी को प्रणाम करें। इस प्रक्रिया में निम्न मंत्र का उच्चारण करें-

पृथ्विति मंत्रस्य मेरुपृष्ठः ग ऋषिः सुतलं छन्दः कूर्मोदेवता आसने विनियोगः॥

ॐ पृथ्वी त्वया धृता लोका देवि त्वं विष्णुना धृता।

त्वं च धारय मां देवि पवित्रं कुरु चासनम्‌॥

पृथिव्यै नमः आधारशक्तये नमः

यह नहीं करे: – लक्ष्मीजी की पूजा में चावल का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

स्वयं को पूजा के लिए पवित्र करने के लिए आचमन प्रक्रिया दोहराये। आचमन प्रक्रिया से विद्या, आत्म और बुद्धि तत्व का शोधन हो जाता है। इस के बाद तिलक लगाकर अंग न्यास करें। अब आप पूजा के लिये पूरी तरह पवित्र हैं। check more Happy Diwali Images 2018 and सम्पूर्ण पूजा विधि के लिए निचे बॉक्स में कमेंट करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *